जिले में नहीं शुरू हुई धान पर खरीदारी,किसान परेशान

  • 2016-12-23 08:04:17
  • Sanjeev kumar

AUGANGABAD(ATUL KUMAR): एक तरफ सरकार किसानों के हित बात कर रही है। किसानों से सरकारी समर्थन मूल्य पर धान लिया जाएगा लेकिन जिले के किसानों की हालत यह है कि अभी तक एक छटाक भी धान पैक्स के माध्यम से नहीं बेच सके हैं।

जिसके कारण काफी परेशानी हो रही है। सबसे अधिक परेशानी किसानों को ऑनलाइन कराने में हो रही है। उसके लिए किसान लगातार प्रखंड मुख्यालय से लेकर जिला मुख्यालय तक चक्कर लगा रहे हैं। फिर भी उनका जमीन का रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन नहीं हो पा रहा है। इस परिस्थिति में किसान काफी लाचार दिखाई दे रहे हैं। वहीं विभाग के पदाधिकारी को दोषी ठहरा रहे हैं। किसान नागेंद्र सिंह, राजेश कुमार सिंह का कहना है कि पिछले 3 दिनों से ऑनलाइन कराने के लिए साइबर कैफे से लेकर कोआपरेटिव बैंक का चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन ऑनलाइन नहीं हो पा रहा है।
जब बैंक के बड़े पदाधिकारी बात करते हैं। तो उनके द्वारा कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया जा रहा है। यही कारण है कि अब तक मात्र 15,000 किसानों का ही ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन धान बेचने को लेकर हो सका है। बावजूद एक छटाक धान पैक्स अध्यक्ष के द्वारा नहीं किया गया है। जबकि पिछले वर्ष 66 हजार किसानों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन हुआ था। इसी का परिणाम था कि जिले में लक्ष्य से काफी अधिक धान की खरीदारी की गई थी। लेकिन इस बार सरकार के जटिल प्रक्रिया रहने के कारण किसानों को धान बेचने व ऑनलाइन कराने में काफी दिक्कत हो रहा है।
जब इस संबंध में जिला सहकारिता अध्यक्ष संजय कुमार सिंह से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि पहले तो किसानों का ऑनलाइन कराने में दिक्कत हो रहा है। वहीं धान में अधिक नमी रहने के कारण अभी तक धान के खरीदारी शुरू नहीं हुई है। जबकि 169 पैक्सो को धान खरीदने के लिए अनुमति के साथ-साथ पैसा विभाग के द्वारा दे दी गई है। ऑनलाइन प्रक्रिया सरल बनाने के लिए राज्यस्तरीय पदाधिकारी से बात की गई है। मामला चाहे जो हो किसान धन बेचने के लिये बैचैन है। फिर भी धान नही बेच पा रहे है। विवश होकर बिचौलियों के माध्यम धान बेच सकेंगे वैसे तो व्यपारी व बिचौलिया 1,000 हजार रुपये धान बेच रहे है। 

Leave A comment